आसान नहीं

आसान नहीं होता इतना , यू दिल में किसी के बस जाना आसान नहीं होता बिल्कुल , यू दिल में किसी को बसाना अपने सारे दर्द भुलाकर उसके दर्द में रोना अपने होंठों को सिलकर, बस उसको ही सुनना अपने अरमानों को दफनाकर उसको खुश रखना अपनी चाहत को विसराकर बस उसके ख्वाब सजाना आसान […]

Read More आसान नहीं

प्यार या बेरुखी

दिल के जख्मों को यू सबको दिखाया ना कर ये दुनिया है तुझको बदनाम कर देगी यूँ सरेआम मेरे सपनो में आया ना कर दिल के जख्मों को यू सबको दिखाया ना कर मैंने तुझे ढूंढा था जुगनू की चमक मे यू मुझे पाने की चाहत में तू सूरज की रोशनी में दिए जलाया ना […]

Read More प्यार या बेरुखी

वो दिन भी क्या दिन थे 

वो दिन भी क्या दिन थे जब हम तेरे नाम पे मरते थे तुमसे कोई बात ना थी तेरी मेरी मुलाकात भी ना थी फिर भी तेरे आगोश में रहते थे वो दिन भी क्या दिन थे जब हम तेरे नाम पे मरते थे मैं तेरी यादों में तू मेरे ख्वाबों में तू मेरी है […]

Read More वो दिन भी क्या दिन थे 

बिटिया 

मेरी दुआओं में असर इतना था  ये मैंने सोंचा ना था  वो आई कहीं दूर से ही होगी  शायद शायद पारियों के देश से होगी  पहले उसे किसी ने देखा ना था  वो वो मेरी बिटिया है  सोंचा था उससे कहूँगा  मेरा अक्स मुझे लौटा दे उसने तुम्हें भेजा सितारों के जहां से  लगा मैंने […]

Read More बिटिया 

संयोग या साजिश 

मेरा जाना वन्हा के तेरा आना वन्हा बता भी दे ये संयोग था या तेरी साजिस  मेरा देखना तुझे के तेरा पलट कर देखना मुझे बता भी दे ये संयोग था या तेरी साजिस तुझे देखकर मेरे दिल का धड़कना के मुझे देखकर तेरा मुस्कराना  बता भी दे ये संयोग था या तेरी साजिस मेरा […]

Read More संयोग या साजिश 

खता 

तूने खुद को खुद से अलग कैसे किया होगा मेरी उस बेपनाह मोहब्बत को जहर कैसे दिया होगा पर मैं जब सोचता हूं तेरी इश्के – अदायगी के बारे में तो लगता है तो लगता है खता तूने नहीं खता मैंने ही किया होगा तूने खुद को खुद से अलग कैसे किया होगा मेरी उस […]

Read More खता 

फुरसत कहां  

मुझे फुर्सत कहां तेरे दीदार से सोचता हूं कल कह दूं तू हां कर दे तो मुकम्मल हो जाए मेरा प्यार बस एक तेरे इकरार से मुझे फुर्सत कहां तेरे दीदार से मिल कर भी ना कुछ कह सका मैं उनसे अपने दिल की बात क्योंकि डर था मुझे उनके इंकार से मुझे फुर्सत कहां […]

Read More फुरसत कहां